Astrology · Hindu Gods · Hinduism · Religion

विष्णु सहस्रनाम मंत्र और इसके लाभ

माना जाता है कि त्रिदेवों में भगवान विष्णु संसार के पालन का कार्यभार संभालते हैं तो मनुष्य को सभी सांसारिक चक्रों से लड़ने की शक्ति भी श्री हरि‍ ही देते हैं. इसलिए भगवान विष्णु की उपासना करके हर परेशानी से मुक्ति पाई जा सकती है. विष्णु सहस्रनाम एक ऐसा मंत्र है जिसमें विष्णु के हजार नामों का सम्मिश्रण है अर्थात अगर कोई व्यक्ति भगवान विष्णु के हजार नामों का जाप नहीं कर सकता है तो वह इस एक मंत्र का जाप कर सकता है। इस एक मंत्र में अथाह शक्ति छिपी हुई है जो कलयुग में सभी परेशानियों को दूर करने में सहायक है। 

विष्णु सहस्रनाम स्त्रोत्र मंत्र :-

नमो स्तवन अनंताय सहस्त्र मूर्तये, सहस्त्रपादाक्षि शिरोरु बाहवे।
सहस्त्र नाम्ने पुरुषाय शाश्वते, सहस्त्रकोटि युग धारिणे नमः।।

शैव और वैष्णवों के मध्य यह सेतु का कार्य करता है ये मंत्र :-

इस मंत्र की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि हिन्दू धर्म के दो प्रमुख सम्प्रदाय शैव और वैष्णवों के मध्य यह सेतु का कार्य करता है। विष्णु सहस्रनाम में विष्णु को शम्भु, शिव, ईशान और रुद्र के नाम से सम्बोधित किया है, जो इस तथ्य को प्रतिपादित करता है कि शिव और विष्णु एक ही है। विष्णु सहस्रानम में प्रत्येक नाम के एक सौ अर्थ से कम नहीं हैं, इसलिए यह एक बहुत प्रकांड और शक्तिशाली मंत्र है, शंकराचार्य और पारसर भट्ट जैसे प्रसिद्ध व्यक्तित्व ने इस पवित्र पाठ पर टिप्पणियां लिखी हैं।

ज्योतिषीय लाभ :-

यह नकारात्मक ज्योतिषीय प्रभावों को वश में करने में मदद करता है, इनमें उन दोषों को शामिल किया जाता है जो जन्म समय की ग्रहों की खराब स्थिति से उत्पन्न होते हैं, विष्णु सहस्त्रनाम बुरी किस्मत और श्राप से दूर कर सकता है।

मनोवैज्ञानिक फायदे :-

इसका मनोवैज्ञानिक लाभ भी है , दैनिक  विष्णु सहस्रनाम का जप करते हुए मन को काफी आराम मिलता हैं और अवांछित चिंताओं और विचलित विचारों से मुक्ति मिलती है, इससे मन में सकारात्मक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने और कुशलता सीखने को मिलती  है। 

बाधाएं दूर होती हैं :-

विष्णु सहस्त्रनामम अपने जीवन में बाधाओं को दूर करने का अंतिम उपाय है, यह आपके जीवन में मौजूद महत्वपूर्ण योजनाओं को तेज़ी से और आपके रास्ते पर बाधाओं और चुनौतियों को दूर करने में मदद कर सकता है, बढ़ती ऊर्जा स्तर और आत्मविश्वास के साथ, आप अपने जीवन के लक्ष्यों की ओर जल्दी और ऊर्जावान रूप से आगे बढ़ सकते हो ।

रक्षात्मक कवच 

भगवान विष्णु का नाम  दुर्भाग्य, खतरों, काला जादू, दुर्घटनाओं और बुरी नज़रों से व्यक्ति की रक्षा करने के लिए एक बहुत शक्तिशाली कवच की तरह कार्य करता है और दुश्मनों की बुरी योजनाओं से मन और शरीर की सुरक्षा करता है।

पापों को मिटाना

यह  शक्तिशाली मंत्र एक व्यक्ति को अपने सारे जन्मों में अपने सभी पापों को मुक्त करने में सहायता कर सकता है। 

सन्तति देता है :-

विष्णु के हजारों नामों का जप करने से बांझपन को दूर करने और परिवार में संतान प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। यह घर में बच्चों के  स्वास्थ्य और खुशी को बढ़ाता है और उनके समग्र कल्याण को बढ़ावा देता है।

रोगों को दूर करता है :-

विष्णु सहस्रनाम का नियमित जाप करने से कई बीमारियों को ठीक किया जा सकता है। यह भय और तनाव को भी दूर करता है। यह पारिवारिक झगड़ों को कम करता है और घर के अंदर एक शांतिपूर्ण माहौल स्थापित करता है। यह परिवार के बच्चों की सुरक्षा भी करता है। यदि किसी घर में विष्णु सहस्रनाम का जाप नियमित रूप से किया जाता है या सुना जाता है तो उस घर के सभी सदस्यों के लिए यह एक सुरक्षा कवच के रूप में काम करता है। 

इस प्रकार विष्णु सहस्रनाम का जप किसी भी व्यक्ति जीवन अनंत लाभ लाता है। यह हमें गरीबी, बीमारी, जन्म और मृत्यु के भय से मुक्त करता है। हम एक उच्च चेतना प्राप्त करते हैं जो हमें ईश्वर को बेहतर तरीके से समझने और आत्मनिरीक्षण करने में मदद मिलती है। नियमित रूप से इसका जाप या इसे सुनने से विशेष लाभ की प्राप्ति होती है इसलिए इसे अपनी दिनचर्या में जरूर शामिल करना चाहिए। 

महाकाव्य महाभारत के ‘अनुशासन पर्व’ अध्याय में भगवान विष्णु के एक हजार नामों का उल्लेख है. कहा जाता है कि जब भीष्म पितामह बाणों की शय्या पर लेटे अपनी इच्छा मृत्यु के लिए सही समय का इंतजार कर रहे थे, तब उन्होंने ये एक हजार नाम युधिष्ठिर को बताए थे. ज्ञान पाने की इच्छा से जब युधिष्ठिर ने भीष्मपितामह से यह पूछा कि कौन ऐसा है, जो सर्व व्याप्त है और सर्व शक्तिमान है? तो पितामह ने भगवान विष्णु के ये एक हजार नाम बताए थे. भीष्मपितामह ने विष्णु के एक हजार नाम बताने के साथ ही युधिष्ठिर से कहा कि हर युग में मनोकामना पूर्ति के लिए, इन एक हजार नामों को सुनना और पढ़ना सबसे उत्तम होगा. इसका नियमित पाठ करके हर संकट से मुक्ति मिल जाती है. विष्णु सहस्रनाम की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह हिंदू धर्म के दो प्रमुख सम्प्रदाय शैव और वैष्णवों के बीच यह जुड़ाव का काम करता है.

विष्णु सहस्रनाम में विष्णु को शम्भु, शिव, ईशान और रुद्र के नाम से बुलाया गया है, जिससे यह साबित होता है कि शिव और विष्णु एक ही है. सनातन सम्प्रदाय में धर्म को कभी भी मानव समाज के रूप में नहीं बताया गया है. सही मायनों में धर्म को मनुष्य के कर्तव्य नियम के रूप में बताया गया है, जिसे हम कर्म भी भी कहते हैं. विष्णु सहस्रनाम भी कर्म प्रधान है.

विष्णु के इन एक हजार नामों में मानव धर्म के बारे में बताया गया है. मनुष्य द्वारा मानसिक और शारीरिक रूप से होने वाले सभी काम और उनके फलों का वर्णन है. जैसे सहस्रनाम में 135वां नाम ‘धर्माध्यक्ष’ है. इसका मतलब है कि कर्म के अनुसार इंसान को पुरस्कार या दंड देने वाले देव.

भगवान विष्णु जीवन के संरक्षक हैं और जीवन को बचाते हैं। विष्णु पृथ्वी पर पनपने के लिए जीवन के विभिन्न रूपों का निर्वाह करते हैं। विष्णु को प्रार्थना करने वाले कई पवित्र श्लोक हैं। सभी में सबसे प्रभावी विष्णु सहस्रनाम है। विष्णु सहस्रनाम में विष्णु के एक हजार नाम शामिल हैं। भारतीय महाकाव्य, महाभारत, विष्णु सहस्रनाम के रूप में 149 अध्याय, श्लोक 14 से 20 है। विष्णु सहस्रनाम हिंदू पौराणिक कथाओं में गहराई से समाहित है और अनुष्चुपचंदा में कुल 108 स्रोत हैं। मानवता ने हमेशा माना है कि एक ध्वनि मन और शरीर के लिए, दोनों को तनाव-मुक्त रहना चाहिए। विष्णु सहस्रनाम एक शोधक और उद्धारकर्ता है। जब सभी उपाय  विफल हो जाते हैं तब व्यक्ति ईश्वर की तरफ झुकाव करता है। लेकिन हमें खुशी के समय भी ईश्वर का अनुसरण करना चाहिए। हमें निष्ठापूर्ण भक्ति के साथ विष्णु सहस्रनाम का जप करना चाहिए, जो परम विश्वास के साथ भगवान की राह दिखाता है। विष्णु सहस्रनाम का पाठ करना या सिर्फ रोजाना सुनना, हमारी मानसिक शांति और स्थिरता को बनाए रखने में हमारी मदद करता है।

Disclaimer: All images, designs or videos in this page are copyright of their respective owners. We don’t own have these images/designs/videos. We collect them from search engine and other sources to be used as ideas for you. No copyright infringement is intended. If you have reason to believe that one of our content is violating your copyrights, please do not take any legal action as we are trying to spread the knowledge. You can contact us directly to be credited or have the item removed from the site.

Leave a Reply