Hindu Gods · Religion

हनुमान के 108 चमत्कारी नाम

Lord-Hanuman

  1. ॐ आञ्जनेयाय नमः। : अंजना का पुत्र
  2. ॐ महावीराय नमः। : सबसे बहादुर
  3. ॐ हनूमते नमः। : जिसके गाल फुले हुए हैं
  4. मारुतात्मज : पवन देव के लिए रत्न जैसे प्रिय
  5. तत्वज्ञानप्रद : बुद्धि देने वाले
  6. सीतादेविमुद्राप्रदायक : सीता की अंगूठी भगवान राम को देने वाले
  7. अशोकवनकाच्छेत्रे : अशोक बाग का विनाश करने वाले
  8. सर्वमायाविभंजन : छल के विनाशक
  9. सर्वबन्धविमोक्त्रे : मोह को दूर करने वाले
  10. रक्षोविध्वंसकारक : राक्षसों का वध करने वाले
  11. परविद्या परिहार : दुष्ट शक्तियों का नाश करने वाले
  12. परशौर्य विनाशन : शत्रु के शौर्य को खंडित करने वाले
  13. परमन्त्र निराकर्त्रे : राम नाम का जाप करने वाले
  14. परयन्त्र प्रभेदक : दुश्मनों के उद्देश्य को नष्ट करने वाले
  15. सर्वग्रह विनाशी : ग्रहों के बुरे प्रभावों को खत्म करने वाले
  16. भीमसेन सहायकृथे : भीम के सहायक
  17. सर्वदुखः हरा : दुखों को दूर करने वाले
  18. सर्वलोकचारिणे : सभी जगह वास करने वाले
  19. मनोजवाय : जिसकी हवा जैसी गति है
  20. पारिजात द्रुमूलस्थ : प्राजक्ता पेड़ के नीचे वास करने वाले
  21. सर्वमन्त्र स्वरूपवते : सभी मंत्रों के स्वामी
  22. सर्वतन्त्र स्वरूपिणे : सभी मंत्रों और भजन का आकार जैसा
  23. सर्वयन्त्रात्मक : सभी यंत्रों में वास करने वाले
  24. कपीश्वर : वानरों के देवता
  25. महाकाय : विशाल रूप वाले
  26. सर्वरोगहरा : सभी रोगों को दूर करने वाले
  27. प्रभवे : सबसे प्रिय
  28. बल सिद्धिकर :
  29. सर्वविद्या सम्पत्तिप्रदायक : ज्ञान और बुद्धि प्रदान करने वाले
  30. कपिसेनानायक : वानर सेना के प्रमुख
  31. भविष्यथ्चतुराननाय : भविष्य की घटनाओं के ज्ञाता
  32. कुमार ब्रह्मचारी : युवा ब्रह्मचारी
  33. रत्नकुण्डल दीप्तिमते : कान में मणियुक्त कुंडल धारण करने वाले
  34. चंचलद्वाल सन्नद्धलम्बमान शिखोज्वला : जिसकी पूंछ उनके सर से भी ऊंची है
  35. गन्धर्व विद्यातत्वज्ञ, : आकाशीय विद्या के ज्ञाता
  36. महाबल पराक्रम : महान शक्ति के स्वामी
  37. काराग्रह विमोक्त्रे : कैद से मुक्त करने वाले
  38. शृन्खला बन्धमोचक: तनाव को दूर करने वाले
  39. सागरोत्तारक : सागर को उछल कर पार करने वाले
  40. प्राज्ञाय : विद्वान
  41. रामदूत : भगवान राम के राजदूत
  42. प्रतापवते : वीरता के लिए प्रसिद्ध
  43. वानर : बंदर
  44. केसरीसुत : केसरी के पुत्र
  45. सीताशोक निवारक : सीता के दुख का नाश करने वाले
  46. अन्जनागर्भसम्भूता : अंजनी के गर्भ से जन्म लेने वाले
  47. बालार्कसद्रशानन : उगते सूरज की तरह तेजस
  48. विभीषण प्रियकर : विभीषण के हितैषी
  49. दशग्रीव कुलान्तक : रावण के राजवंश का नाश करने वाले
  50. लक्ष्मणप्राणदात्रे : लक्ष्मण के प्राण बचाने वाले
  51. वज्रकाय : धातु की तरह मजबूत शरीर
  52. महाद्युत : सबसे तेजस
  53. चिरंजीविने : अमर रहने वाले
  54. रामभक्त : भगवान राम के परम भक्त
  55. दैत्यकार्य विघातक : राक्षसों की सभी गतिविधियों को नष्ट करने वाले
  56. अक्षहन्त्रे : रावण के पुत्र अक्षय का अंत करने वाले
  57. कांचनाभ : सुनहरे रंग का शरीर
  58. पंचवक्त्र : पांच मुख वाले
  59. महातपसी : महान तपस्वी
  60. लन्किनी भंजन : लंकिनी का वध करने वाले
  61. श्रीमते : प्रतिष्ठित
  62. सिंहिकाप्राण भंजन : सिंहिका के प्राण लेने वाले
  63. गन्धमादन शैलस्थ : गंधमादन पर्वत पार निवास करने वाले
  64. लंकापुर विदायक : लंका को जलाने वाले
  65. सुग्रीव सचिव : सुग्रीव के मंत्री
  66. धीर : वीर
  67. शूर : साहसी
  68. दैत्यकुलान्तक : राक्षसों का वध करने वाले
  69. सुरार्चित : देवताओं द्वारा पूजनीय
  70. महातेजस : अधिकांश दीप्तिमान
  71. रामचूडामणिप्रदायक : राम को सीता का चूड़ा देने वाले
  72. कामरूपिणे : अनेक रूप धारण करने वाले
  73. पिंगलाक्ष : गुलाबी आँखों वाले
  74. वार्धिमैनाक पूजित : मैनाक पर्वत द्वारा पूजनीय
  75. कबलीकृत मार्ताण्डमण्डलाय : सूर्य को निगलने वाले
  76. विजितेन्द्रिय : इंद्रियों को शांत रखने वाले
  77. रामसुग्रीव सन्धात्रे : राम और सुग्रीव के बीच मध्यस्थ
  78. महारावण मर्धन : रावण का वध करने वाले
  79. स्फटिकाभा : एकदम शुद्ध
  80. वागधीश : प्रवक्ताओं के भगवान
  81. नवव्याकृतपण्डित : सभी विद्याओं में निपुण
  82. चतुर्बाहवे : चार भुजाओं वाले
  83. दीनबन्धुरा : दुखियों के रक्षक
  84. महात्मा : भगवान
  85. भक्तवत्सल : भक्तों की रक्षा करने वाले
  86. संजीवन नगाहर्त्रे : संजीवनी लाने वाले
  87. सुचये : पवित्र
  88. वाग्मिने : वक्ता
  89. दृढव्रता : कठोर तपस्या करने वाले
  90. कालनेमि प्रमथन : कालनेमि का प्राण हरने वाले
  91. हरिमर्कट मर्कटा : वानरों के ईश्वर
  92. दान्त : शांत
  93. शान्त : रचना करने वाले
  94. प्रसन्नात्मने : हंसमुख
  95. शतकन्टमदापहते : शतकंट के अहंकार को ध्वस्त करने वाले
  96. योगी : महात्मा
  97. रामकथा लोलाय : भगवान राम की कहानी सुनने के लिए व्याकुल
  98. सीतान्वेषण पण्डित : सीता की खोज करने वाले
  99. वज्रद्रनुष्ट :
  100. वज्रनखा : वज्र की तरह मजबूत नाखून
  101. रुद्रवीर्य समुद्भवा : भगवान शिव का अवतार
  102. इन्द्रजित्प्रहितामोघब्रह्मास्त्र विनिवारक : इंद्रजीत के ब्रह्मास्त्र के प्रभाव को नष्ट करने वाले
  103. पार्थ ध्वजाग्रसंवासिने : अर्जुन के रथ पार विराजमान रहने वाले
  104. शरपंजर भेदक : तीरों के घोंसले को नष्ट करने वाले
  105. दशबाहवे : दस भुजाओं वाले
  106. लोकपूज्य : ब्रह्मांड के सभी जीवों द्वारा पूजनीय
  107. जाम्बवत्प्रीतिवर्धन : जाम्बवत के प्रिय
  108. सीताराम पादसेवक : भगवान राम और सीता की सेवा में तल्लीन रहने वाले

॥ इति श्रीहनुमानष्टोत्तरशतनामावलिः सम्पूर्णा ॥

fb_img_15723226153779110972418232568042.jpg
Screenshot 2020-04-08 10.06.41.png
Screenshot 2020-04-08 10.07.59
Screenshot 2020-04-08 10.12.07
Screenshot 2020-04-08 10.13.13
Screenshot 2020-04-08 10.14.16
Screenshot 2020-04-08 10.15.10
Screenshot 2020-04-08 10.16.05
Screenshot 2020-04-08 10.16.54
Screenshot 2020-04-08 10.17.46
Screenshot 2020-04-08 10.18.37
Screenshot 2020-04-08 10.19.28

हर कष्ट को दूर करने वाले हैं हनुमान जी के 12 नाम

हनुमान जी के 12 नामों में से हर नाम की अपनी महिमा है. इनका जाप करना सारे कष्टों को हरने वाला होता है. जानें क्या हैं ये नाम और कि‍स तरह ये विपत्त‍ियों को दूर करते हैं…

  1. हनुमान
  2. अंजनीसुत
  3. वायुपुत्र
  4. महाबल
  5. रामेष्ट
  6. फाल्गुनसखा
  7. पिंगाक्ष
  8. अमितविक्रम
  9. उदधिक्रमण
  10. सीताशोकविनाशन
  11. लक्षमणप्राणदाता और
  12. दशग्रीवदर्पहा

महाबली बजरंग के इन नामों का उच्चारण करने से आपकी कई वर्षों से चली आ रही परेशानियां पल भर में छूमंतर हो जाएंगी. आइए अब जानते हैं कि संकटमोचन हनुमान के नामों का किन समस्‍याओं में कब और कैसे स्मरण करना चाहिए.

दीर्घायु पाने के लिए
रोजाना सुबह सोकर उठने के साथ ही बिस्तर पर बैठे-बैठे इन बारह नामों को ग्यारह बार बिना रूके उच्‍चारण करने से आप दीर्घायु होंगे. इसके अलावा आपके ऊपर आने वाली शारीरिक समस्याओं का भी निदान होगा.

धनवान बने रहने के लिए
हनुमान के इन नामों की महिमा वैसे तो अनंत है, लेकिन दोपहर के समय अपने ऑफिस, घर या दुकान में बैठकर भी इन बारह नामों का स्मरण करने वाले भक्त के जीवन में पैसे की कोई कमी नहीं रहती. इसके अलावा रूका हुआ धन वापस मिलता है और हनुमान के ये बारह नाम कर्ज से भी मुक्ति दिलाते हैं.

खत्‍म कर देते हैं गृह क्‍लेश
चाहे स्त्री हो या पुरूष यदि उसके जीवन में पारिवारिक क्लेश रहता है. ऐसे लोग यदि महावीर के इन बारह नामों का जाप संध्याकाल में करते हैं तो उनके परिवार में सुख शांति बनी रहती है.

भय और शत्रु से करते हैं रक्षा
यदि आपके जीवन में ज्ञात-अज्ञात भय बना रहता है या आपके शत्रु आप पर हावी हो रहे हैं तो ऐसे में आपके लिए संजीवनी बूटी का काम करेंगे हनुमान जी के ये बारह नाम. ऐसे लोगों को रात को सोने से पहले इन बारह नामों का जाप करना चाहिए. हनुमान के इन बारह नामों का नियमित रूप से जाप करने से उनकी कृपा आपके ऊपर रूप विशेष से बनी रहती है.

हनुमान जी की उपासना अत्यंत प्रभावशाली क्यों मानी जाती है?
– हनुमान जी कलयुग के सबसे प्रभावशाली देव माने जाते हैं.
– माना जाता है कि हनुमान जी चिरंजीवी हैं और आज भी जीवित हैं.
– अपनी अद्भुत और कठोर भक्ति के कारण इनको अष्टसिद्धि और नवनिधि का वरदान मिला है.
– इसी वरदान और अपने ईष्ट श्रीराम की कृपा के कारण हनुमान जी अपने भक्तों के कष्ट हरने में सक्षम हैं.
– इनकी उपासना तुरंत फलदायी होती है और हर तरह के संकट का नाश करती है.
– हनुमान जी की उपासना में एक तरीका इनके द्वादश (बारह) नाम के पाठ का भी है.

कैसे करें इन 12 नामों का प्रयोग और इनके लाभ क्या हैं?

– प्रातकाल, रात्रि में सोने के पूर्व, किसी नए कार्य के आरम्भ के पूर्व या यात्रा के पूर्व इन नामों का प्रयोग करें.
– पीले कागज पर लाल रंग से लिखकर इन नामों को घर के मुख्य द्वार और पूजा स्थान पर भी लगा सकते हैं.
– भोजपत्र पर अष्टगंध से लिखकर इसे लॉकेट की तरह गले में धारण कर सकते हैं.
– इन नामों का प्रयोग करने से व्यक्ति की दसों दिशाओं और आकाश पाताल से रक्षा होती है.
– प्रातःकाल ये नाम लेने से व्यक्ति दीर्घायु होता है.
– दोपहर को ये नाम लेने से धनवान होता है.
– रात्रि को ये नाम लेने से विरोधी परास्त होते हैं और शत्रु शांत होते हैं.
– मनोकामना पूरी करने के लिए इन बारह नामों का नित्य प्रात नौ बार जाप करना चाहिए.

 

जय श्री राम, जय बजरंगबली

Border Pic

Leave a Reply