Religion

सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए रविवार के दिन पढ़िए सूर्य के 21 नाम

 

Surya Dev

समस्त जगत की आत्मा, वेदों के अनुसार, सूर्य को माना गया है| यह बात सत्य है कि सूर्य से ही इस पृथ्वी पर जीवन है तथा इन्ही के द्वारा सम्पूर्ण सृष्टि का पालन किया जाता है| सूर्य का अर्थ है सर्व प्रेरक, सर्व प्रकाशक, सबका आरम्भक और सबका कल्याण करने वाला है|प्राचीन भारतीय साहित्य में सूर्य के समानार्थी हैं आदित्य, अर्का, भानु, सावित्री, पुषण, रवि, मार्टंडा, मित्रा और विवस्वान है|

सूर्य हिंदू ज्योतिष की राशि चक्र प्रणाली में नौ स्वर्गीय घरों (नवग्रह) में से एक है। सूर्य या रवि हिंदू कैलेंडर में रविवर या रविवार का आधार है। सूर्य के सम्मान में प्रमुख त्योहारों और तीर्थयात्रा में मकर संक्रांति, पोंगल, रथ सप्तमी और कुंभ मेला शामिल हैं।

सूर्य उपनिषद में सूर्य को ही संपूर्ण जगत की उतपत्ति का एक मात्र कारण बताया गया है| प्राचीन काल से ही भगवान सूर्य के अनेक मन्दिर भारत में बने हुए है| वैदिक साहित्य के अतिरिक्त आयुर्वेद, ज्योतिष, हस्तरेखा शास्त्रों में भी सूर्य का अधिक महत्व है|

ऐसा कहा जाता है कि भगवान सूर्य की तीन पत्नियां हैं- सरन्यू, रागी और प्रभा। सूर्य, शनि और यम के दो पुत्र मानव जीवन काल के फैसले के लिए जिम्मेदार हैं। रामायण में उन्हें सुग्रीव के पिता के रूप में वर्णित किया गया है, जिन्होंने राम और लक्ष्मण को रावण को पराजित करने में मदद की थी। महान महाकाव्य महाभारत में, महान योद्धा कर्ण सर्वोच्च देवता भगवान सूर्य और राजकुमारी कुंती के पुत्र के रूप में माना गया है।

सूर्य अक्सर एक घोड़ा रथ की सवारी करते हुए दिखाया गया है जो सात घोड़ों द्वारा खींचा जाता है। यह कई महान पुरुषों द्वारा माना जाता है कि सात घोड़ों इंद्रधनुष के सात रंग या शरीर में सात चक्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह पूरी तरह से ऊगा हुआ कमल पकडे हुए है और उनका मस्तक किरणों से घिरा हुआ है। गेहूं सूरज से जुड़ा अनाज है

हिंदू धर्म के अनुसार, उन्हें शैव और वैष्णव द्वारा भगवान शिव और भगवान विष्णु के एक पहलू के रूप में माना जाता है। वह शिव के आठ रूपों में से एक के रूप में भी जाना जाता है सूर्य नारायण भगवान सूर्य का दूसरा नाम है। सूर्य अपने महान उत्कृष्टता और ज्ञान के लिए अच्छी तरह से जाना जाता है लोग उनकी दया प्राप्त करने के लिए सूर्य की पूजा करते हैं। यह माना जा रहा है कि उनके पास बीमार लोगों का इलाज करने के लिए एक विशाल शक्ति है। सूर्य के प्रतीक को शुभकामना की शुभ चिन्ह और हिंदू विश्वास में नई आशा के रूप में माना जाता है।

हर भगवान का कोई न कोई दिन माना जाता है ऐसे ही सूर्य देव के लिए रविवार का दिन माना गया है| रविवार के दिन सूर्यदेवता की पूजा करने से अनेकों लाभ की प्राप्ति होती है जैसे कि यश में वृद्धि होना, शत्रुओं का दूर भागना और सारी परशानियों से मुक्ति मिलना|शास्त्रों के अनुसार सूर्य देव की उपासना करने से व्यक्ति का शरीर निरोगी रहता है और घर में सुख-शांति का वास बना रहता है|

surya_tvashta

सूर्यदेव हमारे जीवन के अस्तित्व में महतवपूर्ण भूमिका निभाते है अगर वे दर्शन न दें तो न हमें भोजन मिलेगा और न ही पानी| अगर आप जीवन में आने वाली किसी भी समस्या से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सूर्य देव के निम्न दिए गए 21 नामों का सहारा लेना होगा और रविवार के दिन इन नामों का उच्चारण करना होगा| यह नाम पवित्र माने गए हैं| इन सूर्य नामों का सूर्योदय और सूर्यास्त के समय पाठ करने से व्यक्ति के समस्त पाप नष्‍ट हो जाते हैं और सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है|

  1. विकर्तन- विपत्तियों को नष्ट करने वाले
  2.  विवस्वान- प्रकाश रूप
  3.  मार्तंड- जिन्होंने अंड में बहुत दिनों निवास किया हो
  4.  भास्कर
  5.  रवि
  6.  लोकप्रकाशक
  7.  श्रीमान
  8.  लोक चक्षु
  9.  गृहेश्वर
  10.  लोक साक्षी
  11.  त्रिलोकेश
  12.  कर्ता
  13.  हर्ता
  14.  तमिस्त्रहा- अंधकार को नष्ट करने वाले
  15.  तपन
  16.  तापन
  17.  शुचि- पवित्रतम
  18.  सप्ताश्ववाहन
  19.  गभस्तिहस्त- किरणें जिनके हाथ स्वरूप हैं
  20.  ब्रह्मा
  21.  सर्वदेवनमस्कृत

सूर्य को प्रसन्न करने के लिए रविवार के दिन इन नामों का तन मन से उच्चारण करें तथा इस दिन व्रत रखने से यह आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा| एक बात का ध्यान रखें कि व्रत के दिन भोजन में नमक का उपयोग न करें| सुबह सुबह नहा धो कर सूर्य को नमस्कार करना चाहिए और उनकी पूजा करनी चाहिए|

सूर्य मंदिर भारत के कई हिस्सों में पाए जाते हैं। सूर्य मंदिरों की तुलना में अधिक सामान्यतः सूर्य से संबंधित कलाकृति है, जो हिंदू धर्म में विभिन्न परंपराओं के सभी प्रकार के मंदिरों में पाए जाते हैं, जैसे शिव, विष्णु, गणेश और शक्ति से संबंधित हिंदू मंदिर। सबसे प्रसिद्ध सूर्य मंदिर, उड़ीसा में विश्व विरासत स्थल, कोनार्क मंदिर है।

 

Border Pic

Leave a Reply